हरदोई: 4 दिन में 3 गोवंश की हुई मौत,अधिकारीयों का है गैर-ज़िम्मेदारना...

हरदोई: 4 दिन में 3 गोवंश की हुई मौत,अधिकारीयों का है गैर-ज़िम्मेदारना रवैया

244
0
SHARE
three cattle died
three cattle died

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में गौ रक्षा को लेकर बड़े-बड़े दावे किये जा रहे हैं लेकिन सरकार के ये सभी दावे जमीन पर उतरते कहीं नहीं दिख रहे हैं. पूरे प्रदेश से आये दिन गौवंश की खराब स्थिति की खबरें सुनने को मिल रही हैं. ताजा मामला यूपी के हरदोई जिले का है जहाँ पर पशु आश्रय स्थलों में अव्यवस्था के कारण आवारा जानवरों की जान पर बन आई है. यहाँ पर 4 दिन के भीतर तीन गोवंश दम तोड़ चुके हैं. ऐसी स्थिति में भी कोई जिम्मेदार अधिकारी हालात देखने तक नहीं आया. ऐसे में गौ रक्षा पर बड़े-बड़े दावे करने वाली योगी सरकार पर सवाल उठने शुरू हैं.

अनदेखी के कारण हो रही मौतें :

यूपी के हरदोई जिले में दो पशु आश्रय स्थल स्थायी तौर पर संचालित होते हैं. इनमें बहर गांव और नयागांव मुबारकपुर आश्रय स्थलों की शुरुआत जिलाधिकारी पुलकित खरे ने कराई थी. मंगलवार देर शाम जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर पशु आश्रय स्थलों के लिए आवश्यक निर्देश दिए थे। इसके बाद भी पशु आश्रय स्थलों में अनदेखी के कारण गोवंशों की मौत होने लगी है.

यहाँ पर नया गांव मुबारकपुर आश्रय स्थल में सोमवार शाम एक गाय ने दम तोड़ दिया था. इसके बाद मंगलवार सुबह बछड़े की मौत हो गई। ग्राम विकास अधिकारी राजेश वर्मा ने इसकी सूचना पशु पालन विभाग के चिकित्साधिकारियों को भी दी और पोस्टमार्टम कराने के लिए कहा लेकिन उनकी ओर से छुट्टी पर हैं, दूसरे को भेज रहे हैं कि बात कही गई.

कोई नहीं ले रहा जिम्मेदारी :

सचिव ने डीपीआरओ अनिल कुमार सिंह को भी मंगलवार को फोन करके घटना से अवगत कराया. उन्होंने पशु चिकित्साधिकारी से बात करने को कहा, लेकिन बुधवार शाम तक कोई जिम्मेदार नहीं पहुंचा. वहां मौजूद सफाई कर्मियों ने मृत गाय के ऊपर पॉलिथीन डाल दी.

देर शाम ग्राम विकास अधिकारी ने बताया कि उनके आश्रय स्थल में करीब 250 गोवंश हैं. चार दिन पहले एक सांड़ की रीढ़ की हड्डी टूटने से मौत हुई थी. उसका पोस्टमार्टम कराकर ग्राम सभा की जमीन में दफना दिया गया था. व्यवस्था की आला अधिकारियों को जानकारी दी है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY