बाराबंकी: सरकारी जमीन पर भू-माफियाओं ने किया कब्ज़ा, CM से लेकर राष्ट्रपति...

बाराबंकी: सरकारी जमीन पर भू-माफियाओं ने किया कब्ज़ा, CM से लेकर राष्ट्रपति तक लगाई गुहार

221
0
SHARE
government land grabbed

एक ओर सरकारी जमीनों को दबंग भू माफियाओं के चंगुल से मुक्त कराने के लिए योगी सरकार दृढ़ संकल्प दिखाई दे रही है वहीं लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले की तहसील रामसनेहीघाट के एक गांव में पशुपालन विभाग की सरकारी जमीनों पर कुछ तथाकथित भूमाफिया आज भी अंगद के पैर की तरह अपना कब्जा जमाए हुए हैं. इस संबंध में मुख्यमंत्री समेत उच्चाधिकारियों से शिकायत भी की गई परंतु नतीजा शून्य रहा.

मुख्यमंत्री से राष्ट्रपति तक लगाई गुहार

बाराबंकी जनपद की तहसील रामसनेहीघाट क्षेत्र के बांसगांव में पशुपालन विभाग की 350हेक्टेयर भूमि पर तहसील प्रशासन की मिलीभगत से दबंगों का कब्जा है. पशुपालन विभाग की जमीन पर करोड़ों रुपये की गन्ने की फसल उगाकर सरकार के राजस्व को चूना लगाया जा रहा है. अवैध कब्जा छोडवाने के लिए बृजेन्द्र प्रताप सिंह निवासी बसन्तपुर ने मुख्यमंत्री से लेकर महामहिम राष्ट्रपति तक गुहार लगायी लेकिन तहसील प्रशासन को दबंगों से अच्छी आमदनी होने के कारण कोई भी कार्यवाही नहीं की गयी और शासन को गुमराह किया जा रहा है.

बृजेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की गई (17869/2017) जिसमें मुख्य न्यायाधीश ने एक माह में पशुपालन विभाग की जमीन पर से अवैध कब्जा हटवाने का आदेश दिया था लेकिन तहसील प्रशासन मामले को दबाये हुए मामले की सुनवाई अगले हफ्ते फिर है.

क्या है मामला

प्रेषित पत्र में बृजेंद्र प्रताप सिंह पुत्र माता बक्श सिंह निवासी बसंतपुर ने कहा है कि जनपद बाराबंकी की तहसील रामसनेहीघाट के बांस गांव में पशुपालन विभाग की 350 हेक्टेयर जमीन पर तथाकथित भूमाफिया अनाधिकृत रूप से अपना कब्जा जमाए हुए हैं जिस पर गन्ने आदि की फसलें लहलहा रही हैं. इस संबंध में कई बार उच्चाधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी नतीजा शून्य रहा. अंत में उन्होंने माननीय उच्च न्यायालय में अवैध कब्जा हटाए जाने के संबंध में याचिका दायर की.

क्या है याचिका का आदेश

जनहित याचिका के आदेश में माननीय उच्च न्यायालय में पारित आदेश 1786 9 पीआईएल/ 2017 आदेश दिनांक 24:04 2018 को हो गया था परंतु उसका अनुपालन नहीं किया जा रहा है जिसका आलम यह है कि दबंग भूमाफिया आज भी अंगद के पैर की तरह अपना कब्जा जमाए हुए हैं.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY