SHARE

 राष्ट्रीय शोक जिसे अंग्रेजी मे नेशनल मॉर्निंग (national mourning) कहा जाता है देश के किसी बडे नेता या विशिष्ट व्यक्ति के निधन पर दुख प्रकट करने हेतु घोषित किया जाता है । वैसे तो राष्ट्रीय शोक का इतिहास देखा जाए तो आज तक कम से कम एक दिन और अधिक से अधिक 7 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया जाता है ।


 विभिन्न राजनेताओ , पूर्व राष्ट्रपति तथा अपने-अपने क्षेत्र के अनुभवि क्यवितायों के निधन पर घोषित किया जा चुका है ।
                                  राष्ट्रीय शोक की घोषण के उपरांत सरकारी निर्णय पर 1 से 7 दिन का शोक घोषित किया जाता है । तथा इस बीच सरकार के निर्णय पर सरकारी कार्यालय तथा कॉलेजों को बंद किया जाता है व पूरे राजकीय सम्मान के साथ गणमान्य विशेष व्यक्ति का अंतिम संस्कार किया जाता है । एक सबसे बड़ी बात उन सभी इमारतों पर जहां पर नियमित रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है वहां पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका दिया जाता है जो कि राष्ट्रीय शोक का प्रतीक होता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY