वार्ष्णेय समाज द्वारा हास्य कवि सम्मेलन और होली मिलन समारोह का किया...

वार्ष्णेय समाज द्वारा हास्य कवि सम्मेलन और होली मिलन समारोह का किया गया आयोजन

337
0
SHARE
श्री वैश्य वार्ष्णेय समाज के लिए बड़े ही हर्ष का विषय है कि 17 मार्च 2019 को श्री वार्ष्णेय अक्रूर वाटिका में श्री वैश्य वार्ष्णेय सांस्कृतिक मंच द्वारा एक भव्य हास्य कवि सम्मेलन एवं होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य वार्ष्णेय समाज को एकजुट करके समाज निर्माण की दिशा में आगे बढ़नाI  वर्तमान समय में वार्ष्णेय समाज निरंतर विकासात्मक गति से आगे बढ़ रहा हैI  इस समाज द्वारा अन्य दूसरे समुदाय के लोगों को भी उसका लाभ प्राप्त हो सके इस दिशा में भी कार्य किया जा रहा है।
दीप प्रज्वलन एवं गणेश वंदना के साथ कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत की गई जिसमें समाज के गणमान्य महानुभव ने अपनी गरिमा में उपस्थिति दर्ज कर कार्यक्रम की शोभा बढाई I
इस कार्यक्रम में उपस्थित प्रमुख कवियों में अनिल अग्रवंशी, पोपुलर मेरठी,  ममता वार्ष्णेय,  प्रशांत अग्रवाल, कमल आग्नेय, दीपक वार्ष्णेय ने अपने काव्य पाठ के माध्यम से खूब हास्य और राष्ट्रभक्ति काव्य से सभी को देशभक्ति से सराबोर कर दिया । प्रसिद्ध गायिका विधि देशवाल, नीरज गुप्ता व अंकित वार्ष्णेय ने भी कार्यक्रम में गीत प्रस्तुत किए। इसके अतिरिक्त कोई अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गए।
कार्यक्रम में दिल्ली सहित देश के अनेक भागों से आए वार्ष्णेय समाज के सदस्यों ने भारी संख्या में हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में लगभग 1500 व्यक्ति भाग लिया जो कि इस श्री वैश्य वार्ष्णेय सांस्कृतिक मंच के लिए एक नया कीर्तिमान स्थापित हुआ।
इस कार्यक्रम में  दिल्ली के उपमुख्यमंत्री श्री मनीष सिसोदिया, श्री ओम प्रकाश शर्मा, निगम पार्षद श्रीमती अपर्णा गोयल, श्रीमती शशी चानना व MCD में विपक्ष के नेता श्री कुलदीप सिंह, श्री नीरज गुप्ता, बलदेव कुमार गुप्ता,श्री एल डी वार्ष्णेय, श्री वेद प्रकाश वार्ष्णेय, श्री वी के वार्ष्णेय, श्री रूप कुमार वार्ष्णेय, श्री संजय कुमार वार्ष्णेय, श्री कमलेश वार्ष्णेय,सी ए सुधीर वार्ष्णेय, श्री हरीश अग्रवाल, श्री चन्द्रगुप्त, सी ए रवि भारती, श्री ओमकार गुप्ता , श्री एल एन गुप्ता, श्री नरेन्द्र कुमार वार्ष्णेय, सी ए शरद वार्ष्णेय सहित अन्य गणमान्य महानुभावों ने अपनी गरिमामय उपस्थिति दर्ज कर  की शोभा बढ़ाई।
इस कार्यक्रम का उद्देश्य सामाजिक समरसता को बनाए रखना एवं अपने समाज के कमजोर वर्ग के लोगों की सहायता करना है साथ ही साथ उन बच्चों को प्रोत्साहन भी देना जो लगातार अपनी प्रतिभा से आगे बढ़ रहे वास्तविक रूप से श्री वार्ष्णेय समाज सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ-साथ सामाजिक कार्यक्रमों के माध्यम से समाज निर्माण की दिशा में आगे बढ़ रहा है और निश्चित रूप से समाज के सहयोग से और भी आगे बढ़ता रहेगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY