नवरात्रो में दुसरी छठ

नवरात्रो में दुसरी छठ

135
0
SHARE
                                                                                चैत्र महीने की शुरुआत में जब दिल्ली- एनसीआर के लोग नवरात्र मना रहे होते हैं, तभी दिल्ली के पूर्वांचली समाज के लोग नवरात्र के साथ छठ भी मनाते हैं। जी हां दिवाली के छठे दिन मनाई जाने वाली छठ पूजा के अतिरिक्त एक और छठ पूर्वांचली समाज के लोग मनाते हैं। यानी छठ साल में दो बार मनाया जाता है। पहली चैत्र में और दूसरी कार्तिक में। चैत्र शुक्ल पक्ष पष्ठी पर मनाए जाने वाले छठ पर्व को चैती छठ और कार्तिक शुक्ल पक्ष पष्ठी पर मनाए जाने वाले छठ पर्व को कार्तिकी छठ कहा जाता है। चैत्र महीने की शुरुआत में जब हिंदू नववर्ष,  नया संवत्सर शुरु होता है तब मनाया जाने वाला यह त्योहार कम ही लोग करते हैं इसलिेए इसके बारे में दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले लोगों को ज्यादा नहीं पता।
          परिवार की सुख-समृद्धि के लिए और मनोवांछित फल पाने के लिए लोग यह व्रत रखते हैं। कार्तिकी छठ की तरह  चैती छठ भी 4 दिन का त्योहार है।
                 वैसे, कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस छठ के लिए खासतौर पर बिहार जाते हैं। फरीदाबाद में रहने वाले बिजनेसमैन आर सी चौधरी कहते हैं, ‘चैती छठ के बहाने हमें एक बार और घर जाने का बहाना मिल जाता है।’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY