कलंक में वरुण धवन और आलिया भट्ट की दमदार एक्टिंग

कलंक में वरुण धवन और आलिया भट्ट की दमदार एक्टिंग

171
0
SHARE


धर्मा प्रोडक्शन की मल्टीस्टारर फिल्म की कहानी 1940 के दशक की दास्तां बताती है. यह हुसैनाबाद नाम के एक काल्पनिक शहर पर आधारित है. दर्द से भरी ये फिल्म लगभग तीन घंटे की है. लेकिन जब आप यह फिल्म देंखेगे आप थिएटर से बाहर नही आना चाहेंगे.

फिल्म की कहानी आजादी से कुछ समय पहले हुसैनाबाद की है जो कि एक बहुल मुस्लिम इलाका है. बलराज चौधरी का किरदार निभा रहे संजय दत्त अपने महल में बेटे आदित्य रॉय कपूर यानी देव और बहू सोनाक्षी सिन्हा (साथ्या) संग रहते हैं. कैंसर से पीड़ित साथ्या के पास जिंदगी के बस कुछ दिन बचे हैं और वह चाहती है कि उसकी मौत के बाद उसके पति अकेले ना रहें. वह देव की रुप (आलिया भट्ट) से शादी करवाना चाहती है.


रुप अपनी बहनों का भविष्य बचाने के लिए आदित्य कपूर यानि कि देव चौधरी से शादी करने के लिए मान जाती हैं. रुप इस रिश्ते को बस किसी तरह ढो रही हैं. परिवार के अंदर कैद भरी जिंदगी जी रही रुप एक दिन सारी हदें पार कर जाती हैं और हीरामंडी में बहार बेगम यानि कि माधुरी दीक्षित के पास पहुंच जाती हैं. यहीं रुप की मुलाकात होती है वरुण धवन यानि जफर से. लेकिन उन्हें पता नहीं जफर से उनकी मोहब्बत एक ‘कलंक’ है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY