कांटें की टक्कर पर मोदी बनाम प्रियंका , कौन कितना मज़बूत ?

कांटें की टक्कर पर मोदी बनाम प्रियंका , कौन कितना मज़बूत ?

160
0
SHARE
कांटें की टक्कर पर मोदी बनाम प्रियंका , कौन कितना मज़बूत ?

लोकसभा चुनाव में सबसे अहम् सीट वाराणसी की है क्युकी इस सीट से प्रधानमंत्री मोदी फिर प्रत्याशी है, और खबर ये भी है की इसी सीट से पीएम मोदी को प्रियंका गांधी टक्कर दे सकतीं हैं, अगर बात करे की 2014 लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी को कुल 5,81,022 वोट मिले थे , जबकि कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय को कुल 75,614 वोट मिले थे बीएसपी को 60,580 और सपा को करीब 45290 वोट मिले , अगर कांग्रेस, बसपा ,और सपा के जोड़ करें तो कुल वोट 90,722 होंगे , बात जातिगत समीकरण की करे तो वाराणसी में करीब 3.25 लाख बनिया है जो भाजपा कोर वोटर हैं अगर नोट बंदी और जीएसटी के बाद अगर कांग्रेस उपजे हुए गुस्से को भुनने में कमयाब होती है तो ये वोट कांग्रेस की ओर खिसक सकतें हैं वाराणसी में ब्रह्मण की संख्या ढाई लाख करीब है जो SC/ST संसोधन बिल को लेकर भी नाराजगी है

कांटें की टक्कर पर मोदी बनाम प्रियंका , कौन कितना मज़बूत ?

अब बात आती है यादवो की संख्या की तो उनकी संख्या 1.50 करीब है इस सीट पर पिछले कई वर्षो से भाजपा को वोट जा रहे हैं, लेकिन सपा के समर्थन के बाद इस पर सेंध लगी हुई हैं , और करीब 3 लाख संख्या मुस्लिमो की है, और ये वर्ग उसी को वोट करता है जो भाजपा को हारने की कुव्वत रखता हो ,
इसके बात भूमिहरो कि संख्या सवा लाख , राजपूत 1 लाख , पटेल 2 लाख और करीब 80 हजार दलित और 70000 पिछड़ी जाति है , जिनका वोट बदल भी सकते हैं अब आंकड़ों के इस खेल को देखने के बाद अगर साझेदारी पर बात बनी और जातीय समीकरण ने साथ दिया तो प्रियंका गाँधी प्रधानमंत्री मोदी को टक्कर दे सकती हैं
हालांकि मोदी ने जिस तरह पिछले साडे चार सालो में वाराणसी में विकास का जो काम किया है , क्या उसे नज़रअंदाज़ किया जा सकता है यह भी अपने आप में एक बड़ा सवाल है

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY