एयरबस हेलीकॉप्टर क्रैश के विरोध में नेपाल के पब्लिक इनोवेटर दीपेंद्र कंडेल...

एयरबस हेलीकॉप्टर क्रैश के विरोध में नेपाल के पब्लिक इनोवेटर दीपेंद्र कंडेल और रजत भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस काआयोजन किया

349
0
SHARE
एयरबस हेलीकॉप्टर क्रैश के विरोध में नेपाल के पब्लिक इनोवेटर दीपेंद्र कंडेल और रजत भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस काआयोजन किया

एयरबस हेलीकॉप्टर क्रैश के विरोध में नेपाल के पब्लिक इनोवेटर दीपेंद्र कंडेल द्वारा नोएडा के सेक्टर-16 में 20 अप्रैल 2019 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसका उद्देश्य सामाजिक मुद्दों को उठाकर उसके बारे में जानता। का जागरूक करना है।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में नेपाल से आए हुए पब्लिक इनोवेटर दीपेंद्र कंडेल और रजत भारद्वाज Founder Air Aspire ने भारतीय मीडिया को संबोधित किया। जिसका उद्देश्य एयरबस हेलीकॉप्टर की उदासीनता के प्रति लोगों को जागरूक करना था।

27 फरवरी 2019 की शाम एक दर्दनाक हादसा हुई जिसने नेपाल को ही नहीं बल्कि आसपास के पड़ोसी मुल्कों को भी भयभीत कर दिया, 27 फरवरी 2019 की शाम नेपाल में एअरबस H 125 क्षतिग्रस्त हुआ जिसमें एक पायलट सहित छह यात्री मारे गए यह हेलीकॉप्टर भारतीय हवाई क्षेत्र से उड़ान भरी थी, हेलीकॉप्टर में नेपाल के सिविल एविएशन और टूरिज्म मिनिस्टर श्री रविंद्र अधिकारी भी बैठे हुए थे और इस दुर्घटना में उनकी भी मृत्यु हो गई।

नेपाल के तेप्लेजंग जिला में यह घटना घटित हुई जिसने पूरे नेपाल में दहशत फैला दी और यह घटना एयर बस इंडस्ट्री की लापरवाही की वजह से हो रही है।

एयरबस हेलीकॉप्टर क्रैश के विरोध में नेपाल के पब्लिक इनोवेटर दीपेंद्र कंडेल और रजत भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस काआयोजन किया

अबतक 22एयर बस हादसों के शिकार हो चुके है, इसके बाद भी अगर नेपाल की सरकार यह समझ नहीं पा रही है कि H125 एलिकॉप्टर में कुछ गड़बड़ हो सकता है, तो यह एक बहुत बड़ी खतरे को नजरअंदाज कर रहे हैं।

अगर एयरबस ने इस हादसे की जिम्मेदारी उठाई होती और इस पर उचित कार्रवाई की होती तो ऐसी घटनाएं आए दिन नहीं घटते H125 हेलीकॉप्टर की जांच होनी चाहिए जिससे जिंदगीयों को सुरक्षित रखा जा सके।

इस घटना की जानकारी एविएशन से संबंध रखने वाली संस्था IATA और ICAO को भी दी गई लेकिन इस पर कोई संतुष्ट जानकारी नहीं प्राप्त हुई।

18 मार्च 2019 को एअरबस के प्रमुख एविएशन सेफ्टी मैनेजमेंट को भी इसके संबंध में ज्ञापन सौंपा गया लेकिन उधर से भी कोई संतुष्ट जवाब नहीं मिला आखिर इन घटनाओं का जिम्मेदार कौन है एवं इस तरह की घटनाओं के लिए एयर बस जागरूक क्यों नहीं हो रही है और तकनीकी रूप से इसकी जांच क्यों नहीं कराई जाए कराई जा रही है क्या मानवता के लिए इतने बड़े हादसे को ऐसे नजरअंदाज किया जा सकता है दुनिया के कई ऐसे एविएशन संस्थाएं हैं जो सुरक्षा को पहली वरीयता देते हैं, लेकिन एयरबस इस मामले में बहुत ही उदासीनता दिखा रही है।

दीपेंद्र कंडेल ने कहा कि संबंध में भारतीय जनता पार्टी के नेता विजय जौली को भी बताया वह भी इस घटना से आश्चर्यचकित रह गए उसके बाद एयरोसिटी दिल्ली में एयरवेज के ऑफिस में भी इस घटना के बारे में जानकारी पहुंचाएं है।

दीपेंद्र कंडेल ने बताया कि एयरबस द्वारा इस घटना पर उचित कार्रवाई नहीं की गई तो मैं इस मामले की अंतरराष्ट्रीय कोर्ट तक ले जाऊंगा ताकि उन पीड़ितों को न्याय मिल सके जिन्होंने अपनी जान एयरबस हेलीकॉप्टर के क्रैश के दौरान गवाई है। हमारी यह लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक उनको न्याय नहीं मिल जाता।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY