भारत और वियतनाम के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए...

भारत और वियतनाम के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए मारवाह स्टूडियो में कार्यक्रम का आयोजन किया गया

156
0
SHARE

भारत और वियतनाम के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए 28 जून 2019 को मारवाह स्टूडियो में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, इस कार्यक्रम में दोनों देशों के सांस्कृतिक और सामाजिक समरसता को बढ़ने के लिए कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई और भविष्य में आपसी संबंधों को और भी मजबूत करने की बात की गई।
कार्यक्रम में वियतनाम के एंबेसडर पाम सान चाऊ, ICMEI के प्रेसिडेंट संदीप मारवाह, सुभाष गोयल, पृथ्वी रंजन, विनीता कपूर सहित देश के कई अन्य गणमान्य महानुभावों ने अपनी गरिमामयी उपस्थिति दर्ज कराई। दीप प्रज्ज्वलन एवं गणेश वंदना के साथ कार्यक्रम की विधिवत शुरुवात हुईI
ICMEI के प्रेसिडेंट एवं मारवाह स्टूडियों के संस्थापक संदीप मारवाह ने भारत और वियतनाम के सभी अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि हम दोनों देशों के आपसी संबंधों को एक नई ऊंचाई पर ले जाना चाहते हैI भारत और वियतनाम के बीच संबंध बहुत पुराने समय से है, हमें दोनों देशों की कला संस्कृति एवं शैक्षणिक उत्थान के लिए मिलकर कार्य करना होगा ताकि दोनों देशों का संतुलित विकास हो सके और आपसी संबंध भी मजबूत हो सके।
वियतनाम के एंबेस्डर पाम शान चाऊ ने कहा कि भारत और वियतनाम के आपसी संबंध बहुत अच्छे हैं और वियतनाम ऐसा देश है जिसने भारत के योगा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे पहले मान्यता दी। उन्होंने संदीप मारवाह की तारीफ करते हुए कहा कि वे एक ऐसी शख्सियत है जो कि दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों को मजबूत करने के लिए कार्य कर रहे है I 29 अक्टूबर से नई दिल्ली और वियतनाम की राजधानी हनोई के बीच डायरेक्ट फ्लाइट की सेवा शुरू की जा रही है जिससे दोनों देशों के बीच आपसी संबंध मजबूत होंगे और सभी प्रकार के पर्यटन में वृद्धि होगीI
इस कार्यक्रम में शामिल हुए सुभाष गोयल, पृथ्वी रंजन सहित सभी महानुभावों ने अपने अपने विचार साझा किये और कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन से दोनों देशों में आपसी सौहार्द बढेगा एवं एक दुसरे को जानने का अवसर भी प्राप्त होगाI दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग, व्यापार, पर्यटन में वृद्धि होगी और एक दूसरे देशों के सभ्यता संस्कृति को जानने का हमें अवसर भी प्राप्त होगा ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY